राजस्व शिविरों में तेजी से हो रहा है प्रकरणों का निपटारा

घर घर जाकर भी दस्तावेजों का किया जा रहा है संकलन
हितग्राहियों को शिविर में ही किया जा रहा है प्रमाण पत्र का वितरण
जिला प्रशासन के विशेष पहल पर आम जनों को मिल रही है बेहतर सुविधाएं
रायपुर. कलेक्टर श्री सौरभ कुमार के निर्देश पर जिले की सभी तहसीलों में विभिन्न जगहों पर शिविर लगाकर राजस्व प्रकरणों का तेजी से निराकरण किया जा रहा है। आय, जाति, निवास तथा अन्य प्रमाण पत्र बनाने संबंधित विभाग के अधिकारी कर्मचारियों द्वारा घर-घर जाकर भी दस्तावेजों का संकलन किया जा रहा है। ताकि आम जनों को प्रमाण पत्र बनवाने में किसी प्रकार की असुविधा महसूस ना हो।
अपर कलेक्टर श्री बी बी पंचभाई ने बताया कि ग्रामीण स्तर पर लगाए जा रहे शिविरों में राजस्व प्रकरण जैसे नामांतरण,खाता विभाजन, सीमांकन, व्यपवर्तन, नया किसान किताब जारी एवं अद्यतन करने, अस्थाई जाति प्रमाण पत्र जारी किए जाने, विलंबित जन्म प्रमाण पत्र की अनुमति आदि संबंधित प्रकरणों के निराकरण तथा राशनकार्ड जारी करने जैसे हितग्राही मूलक कार्य संपन्न किए जा रहे हैं।
अपर कलेक्टर ने बताया कि गत 17 मई को आरंग तहसील के घोर भट्टी एवं कलाई  , रायपुर तहसील के नकटी एवं पंडरभट्ठा  तथा अभनपुर के रवेली और जुलुम में हुए राजस्व शिविरों में से  आरंग तहसील में जाति प्रमाण पत्र के 902, आय प्रमाण पत्रके 922 तथा निवास पत्र के 887 प्रकरणों हेतु आवेदन प्राप्त हुए।
  इसी तरह आज जिले की विभिन्न तहसीलों में आयोजित शिविरों में जाति प्रमाण पत्र के 626 आय प्रमाण पत्र के 658 निवास प्रमाण पत्र के 620 प्रकरणों हेतु आवेदन प्राप्त हुए। कई प्रकरणों का निराकरण त्वरित रूप से शिविर में ही किया जा रहा है। राजस्व प्रकरणों के त्वरित निराकरण से ग्रामीणजनो ने जिला कलेक्टर एवं जिला प्रशासन की तारीफ की।
श्री पंचभाई ने बताया कि कल 19 मई को रायपुर तहसील के ग्राम गुमा, मुर्रा और डोमा, तिल्दा तहसील के ग्राम भूमिया और खपरीकला, आरंग तहसील के ग्राम कुलीपोटा, कुहेरा और पारागांव, अभनपुर तहसील के ग्राम टेकारी और पलौद, गोबरा नवापारा तहसील के ग्राम पिपरौद और कोलियारी तथा खरोरा तहसील के ग्राम नकटी कुम्हारी और कोदवा में राजस्व शिविर का आयोजन किया जाएगा।
शेयर करें